The price of freedom can be paid only by sustained efforts, good deeds and consistent caution.
The Price of Freedom - Mukta Quote
सतत परिश्रम, सुकर्म और निरंतर सावधानी से ही स्वतंत्रता का मूल्य चुकाया जा सकता है।
~ मुक्ता
“Satat parishram, sukarm aur nirantar saavdhani se hi svatantrata ka mulya chukaya ja sakta hai”.
– Mukta