The fish in the water is silent, the animal on the earth is noisy, the bird in the air is singing. But man has in him the silence of the sea, the noise of the earth and the music of the air.
Rabindranath Tagore Hindi Quotes
जल में मीन का मौन, पृथ्वी पर पशुओं का कोलाहल और आकाश में पंछियों का संगीत पर मनुष्य में जल का मौन, पृथ्वी का कोलाहल और आकाश का संगीत सबकुछ है।
~ रवींद्रनाथ ठाकुर
“Jal me machhli ka maun, prithvi par pashuon ka kolahal aur aakash me panchhiyon ka sangeeet lekin manushya me yeh sabhi kuch paaya jaata hai”.
– Rabindranath Thakur